Category Archives: Blogs of PS Malik

10 TIPS FOR SURE SUCCESS

10 TIPS FOR SURE SUCCESS

????????????????????????????????????

success

Hard work does not give you success. Hard work is one of the required inputs but it is not all. A lot many other things are also required in order to get a sure success. The success has to be gained wisely. Pratap Shree tells what else is required in this video:

youtube-logo 600x300

YOGA 4 – योग आसन Asana in Yoga (Hindi)

YOGA 4 – योग आसन Asana in Yoga (Hindi)

सम्पूर्ण योगसूत्र पढ़ जाने पर भी आपको वहाँ किसी एक भी आसन का नाम ना मिलेगा। तब योगसूत्र के नाम पर बाजार में जो दिन रात की सेल लगी है वह क्या है? In fact Yoga is a pleasant stability of your body. Then you can realize a changing inner self inside that stationery body. Asana is a device for realization that you exist even beyond the limits of your body. It shows you the path of moving ahead in consonance with that inner consciousness.

Watch the complete video

https://www.youtube.com/watch?v=drPAbW7jgcg

meditation-yoga680x380

Courtesy:

http://www.psmalik.com

Yoga 3 – Niyama नियम (Hindi)

Yoga 3 – Niyama नियम (Hindi)

निज् + यम = नियम। निजि स्तर पर जो नियंत्रण है वह नियम है। Niyama is your regulation at personal  level. Yoga does not ask you to start travelling towards consciousness. It makes you do some homework. By Yama it establishes a consonance between you and your surroundings while through Niyama it attains the same objective between you and you.

Watch it in this video:

https://www.youtube.com/watch?v=t7LpQ42-uDA

Woman balancing on beach front wall

Yoga Niyama

Yoga 2 – Yama यम (Hindi)

Yoga 2 – Yama यम (Hindi)

Yama is the regulator. The Lord of Death regulates Life by invoking death in the universe. मृत्यु के देवता यम मृत्यु के आयोजन से नवजीवन का संचार करते हैं। वैसे ही योग-यम आपके पुरातन तरीकों को तिलाँजलि देकर नवयोग के आह्वान का एक टूल है। बहुत वैज्ञानिक तरीके से योग आपको यम के द्वारा शुद्ध करता है ताकि आपका परिवेश आपकी योग यात्रा में सहायक हो उठे।

Watch it in this video:meditation-zen (1)

https://www.youtube.com/watch?v=MZQU2BjtquE

Courtesy:

http://www.psmalik.com

YOGA 1 – AN INTRODUCTION परिचय (Hindi)

Meditation 1

Yoga is a tool kit that helps you travel from the material existence at your body to the subtlest existence at the level of consciousness. Yoga is not a destination rather it is voyage. योग किसी प्राप्ति का उद्देशय नहीं है। इसमें कारोबारी नफ़ा नुकसान नहीं कैलकुलेट किया जा सकेगा। यह तो महायात्रा की शुरुआत है जिसमें सिर्फ चलते चले जाना है। गहन से गहनतर की यात्रा है यह योग

Watch it in this Video

https://i.ytimg.com/vi_webp/pyo_RcB9_ag/mqdefault.webp 

Meditation 1

POCSO Act: Presumptions

POCSO Act: Presumptions

Scholars are of differing views regarding the presumptions given under the POCSO Act. Some scholars have termed them draconian presumptions and some others have found them as essential for bringing the intent of the POCSO Act into action.

There are some previous laws also where similar presumptions were enacted by the legislature e.g. Section 31 in Domestic Violence Act. At the time of its enactment people wrote great articles pleading that the presumption under the Domestic Violence Act would not allow the law to world healthily. But the working of the Act for about one complete decade has shown the apprehension as unfounded.

Dr. PS Malik has evaluated the presumptions under the POCSO Act. Its all relevant facets and related tendencies of interpretations of law have been deeply studied to find a working way out of this law with the guiding lights of these presumptions given under Sections 29 and 30 of this Act.

To study the Article one has to visit the following link and download the Article for study.

http://www.psmalik.com/downloads/

हवाई अड्डों को घूरते लाल बुझक्कड़

हवाई अड्डों को घूरते लाल बुझक्कड़

 airport pe lal bujhakkad 500

बचपन की किस्से कहानियों से निकलकर लाल बुझक्कड़ आजकल सर्वत्र फैल गए हैं।

कभी वे लोग शादी से पहले डॉक्टरी सर्टिफिकेट को अनिवार्य बना देते हैं, कभी 100/- प्रति माह वाले केबल को जनता के लाभ के लिये 3000/- की सेट टॉप बॉक्स के साथ 875/- प्रतिमाह भुगतान करने का हुकुम सुना देते हैं। सुना है अब वे दिल्ली के हवाई अड्डों को सुधारने के पुण्य काम में लग चुके हैं।

अखबार में खबर थी कि लोग हवाई जहाज़ से यात्रा करते हैं उनके परिचित और परिवार के लोग उन्हें छोड़ने और लेने के लिये हवाई अड्डों पर आते हैं जिससे वहाँ भीड़ हो जाती है। तो ये हाकिम लोग इस भीड़ को इकट्ठे नहीं होने देना चाहते। इसलिये ये ऐसा कुछ करना चाहते हैं लोगबाग हवाई अड्डों पर भीड़ ना करें। सुना है कि ऐसा कोई हुकम आने वाला है कि जो भी वहाँ पाँच मिनट से ज्यादा रुकेगा उससे बहुत भारी भरकम पैसा वसूला जाएगा – सैकड़ों रुपये प्रति पाँच मिनट के हिसाब से।

जिस मंत्री ने, जिस समूह ने, इंजिनियर ने, प्रशासनिक अधिकारी ने इस 6,300 वर्ग एकड़ भूमि पर नक्शे खिंचवाए होंगे उसके दिमाग में क्या भविष्य का कोई अँदाजा नहीं था। क्या उसे नहीं सूझा था कि यात्री आएँगे तो उन्हें लेने और छोड़ने वाले भी आएँगे और वे अपने वाहनों में आएँगे? यदि उसे ऐसा अँदाजा नहीं था तो उसकी गलती का खमियाजा अब आने वाली पीढ़ियाँ क्यों भुगतें?

आप यात्रा किराए में फ्यूल खर्च के ऊपर भी जन-सुविधाओं के नाम पर अनाप शनाप कर लगाते हैं। वे जन-सुविधाएँ कहाँ है यदि उन्हें आप उनकी गाड़ी भी कुछ देर खड़ी नहीं करने दे रहे हैं।

यह जो पाँच मिनट की समय सीमा बाँधी गई है यह केवल लाल बुझक्कड़ लेवल के दिमाग ही कर सकते है। क्या उन्होंने खुद इसका ट्रायल स्वयँ पर करके देखा है? यदि हाँ तो वे सामने आकर बताएँ और करके दिखाएँ। आलीशान दफ्तरों में बैठकर तुगलकी आदेश ना पारित करें।

वैसे भी जब तक लाल बुझक्कड़ी दिमाग समस्यओं का हल खोजने में लगे रहेंगे और और उन्हें तुगलकी ताकत मिली रहेगा तब तक इस जनता को चैन नहीं मिलेगा। इन लोगों को इनकी असफलताओं की सजा दी जानी चाहिए ताकि आगे आने वाले इनके शिष्य ऐसी लापरवाही फिर ना करें और जनता का स्वेच्छाचारी शोषण रोका जा सके।

वर्तमान में एक रिसपॉन्सिव सरकार के होते हुए ऐसा सोचा जा सकता है कि सरकार इस पर समुचित निर्णय लेगी और इन तुगलकी बुझक्कड़ों पर लगाम कसेगी।

THE COMPLETE ARTICLE IS AT THE LINK:

http://www.psmalik.com/charcha/242-lal-bujhakkad

http://expression.psmalik.com/lal-bujhakkad/

http://psmaliksblogs.blogspot.in/2014/12/lal-bujhakkad.html

%d bloggers like this: